Home / World / Hindi News / असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का 86 वर्ष की उम्र में निधन, तीन दिनों से जीवनरक्षक प्रणाली पर थे

असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का 86 वर्ष की उम्र में निधन, तीन दिनों से जीवनरक्षक प्रणाली पर थे

असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का 86 वर्ष की उम्र में निधन, तीन दिनों से जीवनरक्षक प्रणाली पर थे

Tarun Gogoi Passes away :पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के स्वास्थ्य में रविवार को सुधार के कुछ संकेत दिखाई दिए थे, लेकिन शनिवार सुबह हालत बिगड़ने के बाद उन्हें बचाया नहीं जा सका. गोगोई कोविड-19 से अक्टूबर में उबर गए थे, लेकिन बीमारी के बाद की जटिलताओं ने उन्हें घेर लिया.

Image Courtesy NDTV

असम के तीन बार मुख्यमंत्री रहे तरुण गोगोई (Tarun Gogoi Passes away) का सोमवार शाम को निधन हो गया. गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज में पिछले तीन दिनों से वह लगातार जीवनरक्षक प्रणाली पर थे. रविवार को उनके स्वास्थ्य में सुधार के कुछ संकेत दिखाई दिए थे, लेकिन शनिवार सुबह हालत बिगड़ने के बाद जान नहीं बचाई जा सकी. तरुण गोगोई कोविड-19 से अक्टूबर में उबर गए थे, लेकिन बीमारी के बाद की जटिलताओं ने उन्हें घेर लिया था. इस कारण वह करीब तीन माह से अस्पताल में थे.पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई (Assam Ex Chief Minister Tarun Gogoi) के निधन के बाद राज्य के मौजूदा सीएम सर्बानंद सोनोवाल ने सारे कार्यक्रम रद्द कर दिए और वह गुवाहाटी पहुंच रहे हैं.

86 साल के तरुण गोगोई शनिवार को बेसुध हो गए थे, तब से उन्हें लाइफसपोर्ट पर रखा गया था. इससे पहले सोमवार सुबह तरुण गोगोई के बेटे और कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई ने कहा था कि राज्य के और देश के कई बड़े नेता अस्पताल में उनके परिवार से मुलाकात कर उनके पिता का हालचाल लिया था.बेहद भावुक गौरव ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत कई बड़े नेता उनके पिता का हालचाल जाना. उन्होंने कहा, मेरे पिता करीब तीन माह से अस्पताल में रहे. डॉक्टरों का कहना है कि जिस तरह का साहस मेरे पिता ने दिखाया है, वैसा तो बहुत सारे युवा भी नहीं दिखा पाते. “

गौरव ने बताया कि अस्पताल प्रबंधन ने आईसीयू के भीतर लोगों की प्रार्थनाओं, भूपेन हजारिका के गीत और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के भाषणों को प्रसारित करने के लिए साउंड सिस्टम की इजाजत दी थी. हालांकि यह थेरेपी भी चमत्कार नहीं कर पाई. रविवार रात से तरुण गोगोई की पत्नी, बेटे, बेटी समेत पूरा परिवार अस्पताल में ही मौजूद थे.

असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने सोमवार सुबह कहा था कि तरुण गोगोई के अंगों ने काम करना बंद कर दिया था, दिमाग को कुछ संकेत मिल रहे थे. पेसमेकर लगाये जाने के बाद उनका दिल काम कर रहा था. इसके अलावा कोई अंग काम नहीं कर रहा.गोगोई का रविवार को छह घंटे तक डाय​लिसिस हुआ था, लेकिन यह दोबारा विषाक्त चीजों से भर गया है. लेकिन ऐसी हालत नहीं थी कि उनका डायलिसिस दोबारा किया जा सके.

News Credit NDTV

Check Also

Chandigarh News: अब इंतजार खत्म, सेक्टर-48 के अस्पताल में एक दिसंबर से शुरू होगी OPD

चंडीगढ़ के सेक्टर-48 के 100 बेड के अस्पताल में आखिरकार एक दिसंबर से ओपीडी का …